आपका जीवनसाथी कौन है? · नयी मंज़िल
हमसे जुड़ें

आपका जीवनसाथी कौन है?

प्यार

आपका जीवनसाथी कौन है?

“मुझसे मोहब्बत का इज़हार करता, काश कोई लड़का मुझे प्यार करता!” “मेरी मांग में चांद तारे सजाता, जब मैं रूठ जाती तो वह मुझे मनाता!” या फिर “मेरे सपनों की रानी कब आएगी तू”, ऐसे कई गीत हम सुनते रहते हैं।

पर्दे पर के किरदार भी हमारे जहन में एक जगह बना चुके हैं, फिर चाहे वह राज की सिमरन, रोमियो की जूलियट या फिर टाइटैनिक के जैक और रोज हो।क्या सच में ‘सोलमेट’ या ‘मन का मीत’ जैसा कुछ वास्तव में होता है?

आप क्या सोचते हैं कौन है जीवनसाथी?

क्या वह जो आपके दिल की बात बस चेहरे से पढ़ लेता हो, आपके हाथ में जब अपना हाथ रखे तो लगे के जैसे हिम्मत सी बंद गई हो, जिसके कंधे पर अगर रोने का मन करें तो उससे ज्यादा तसल्ली देने वाली कोई बात ना हो, या फिर वह जिसके साथ घंटों भी कुछ पल के बराबर लगे और दिन और रात तक का ख्याल ना रहे।

ऐसा कई लोगों ने महसूस किया और फिर शादी करने में देरी नहीं की। उनको तो अपना जीवन साथी मिल गया।अगर आप भी कुछ खूबियों की एक तस्वीर बनाकर एक व्यक्ति को उस में फिट कर लेते हैं; या मानते हैं कि मेरा ‘सोलमेट’ कहीं ना कहीं ज़रूर होगा, तो हम इस बात पर अपनी मुहर लगा लेते हैं, कि दुनिया में एक ऐसा व्यक्ति ज़रूर है जिसके साथ बस मेरा ही साथ लिखा है और वह उस फ्रेम में फिट होगा!

मुस्कुराने वाली बात तो यह है कि आप और मैं कहीं ना कहीं यह बात मान चुके हैं, कि यह संभव नहीं है।कोई भी परफेक्ट नहीं है। ना शादी से पहले और  ना शादी के बाद। गोवा के समुंदर पर साथ तस्वीर खिंचवाते वक्त सच्चे प्यार में पति के जैसा दूसरा कोई नजर नहीं आता। यह बात समझने वाली है कि किसी भी रिश्ते को शुरू होने में देर नहीं लगती पर असली युद्ध तो उसके बाद शुरू होता है। एक रिश्ते को बनाकर रखने में परिश्रम ,बलिदान और निस्वार्थ की आवश्यकता होती है।

 

सिर्फ राइट या लेफ्ट स्वाइप करने से मिस्टर/मिसेस राइट नहीं मिल जाता।

“किसी को हराना कोई बड़ी बात नहीं
जिंदगी गुजर जाती है, दिल जीतने में”
– डॉ एपीजे अब्दुल कलाम

 

कुछ अनमोल और प्रेरणादायक विचार:

  • एक परफेक्ट साथी ढूंढने के बजाय स्वयं एक परफेक्ट मैच होने की कोशिश करें।
  • नसीब में कोई बेहतर हो सकता है यह सोचकर मौजूदा रिश्ते मे कमी ना देखें।
  • सच्चा साथी वह है जो हर हाल में, दुख और सुख दोनों में साथ निभाए।
  • किसी भी रिश्ते में जुड़ने की जल्दबाजी ना करें।
  • सुंदरता अच्छी है; चेहरे के साथ मन भी सुंदर हो।

यह सब करने पर भी सच्चाई यह है, कि अगर आपको मन का मीत मिल भी जाए, तो शादी सफ़ल होगी या नहीं इसकी कोई गारंटी नहीं ले सकता। और यह बात भी निश्चित है कि कोई धर्म ऐसा नहीं जिसमे शादी ना टूटी हो। तो आखिर मेरा जीवन साथी कौन और कैसा हो?  यह कौन बता सकता है?

बाइबल के अनुसार पहली शादी की नींव परमेश्वर ने रखी तो क्यो ना हम उसी चीज का पीछा करने में समझदारी समझे।

क्या कोई भी विवाह की वेबसाइट उतनी जानकारी जानती होगी जो परमेश्वर जानता हैं जिसने आपको और आपके साथी दोनों की रचना की है। अगर दो व्यक्ति जो फर्क स्वभाव के हो लेकिन परमेश्वर द्वारा जोडे जाएं तो वह निश्चित कह सकते है कि इससे अच्छा तो ढूंढने पर भी नहीं मिलता। परमेश्वर उन्हें एक दूसरे के लिए परफेक्ट बना सकता है।

बाइबल का परमेश्वर यह कहता है कि,“जो कल्पनाएं मैं तुम्हारे विषय करता हूं उन्हें मैं जानता हूं वह हानि की नहीं वरन कुशल की है और अंत में तुम्हारी आशा पूरी करूंगा।”

क्यों ना आप हमसे इस बारें में और बात करें?  हमे यहाँ लिखियें।चलिए हमारे साथ इस नयी मंज़िल पे।

To Top