ओसीडी (OCD) मज़ाक नहीं: इस मानोरोग को समझिए
हमसे जुड़ें

ओसीडी (OCD), ऑब्सेसिव कम्पलसिव डिसऑर्डर (ओ.सी.डी) मज़ाक नहीं: इस मानोरोग को समझिए

ओसीडी (OCD) मज़ाक नहीं: इस मानोरोग को समझिए

जीवन

ओसीडी (OCD), ऑब्सेसिव कम्पलसिव डिसऑर्डर (ओ.सी.डी) मज़ाक नहीं: इस मानोरोग को समझिए

क्या ओसीडी (OCD) सामान्य रोग है या किसी दबी हुई समस्या का परिणाम? क्या हैं ओसीडी के लक्षण और इस से कैसे छुटकारा पाया जाए? आइए समझें इस बीमारी को और इस से मुक्ति पाने के तरीक़े!

ऑब्सेसिव कम्पलसिव डिसऑर्डर (ओ.सी.डी) – सामान्य या गम्भीर 

कई प्रकार की मानसिक बीमारिओ में एक ऐसी बीमारी है जो कई बार हँसी और मज़ाक का शिकार होती है। लोग इसको सामान्य तरह से लेते हैं और इसकी गंभीरता नहीं समझ पाते क्योंकि उनको इसके अर्थ की पूरी तरह समझ नहीं। यह बीमारी है ओसीडी(OCD) – ऑबसेसिव कंपल्सिव डिसॉर्डर। यह एक तरह का एंगज़ाएटी डिसॉर्डर है।आइए हम आज इसको थोड़ी और गहराई से समझे और जाने इसका कारण और इलाज, और समझे इस से गुज़रते हुए व्यक्ति की स्थिति। 

ओसीडी (OCD) क्या हैं?

ओसीडी एक ऐसी बीमारी है जिसमे एक व्यक्ति अकारण और चिंतित ख़यालों को एक अनैच्च्छिक जुनून से झेलता है। लोगो को आवर्ती (बार बार आती) सोच और डर, संवेदना और भावनाओं का सामना करना पड़ता है। ये ख़याल लगातार उनके दिमाग़ में प्रकट होते हैं और उनको परेशान करते हैं।  

ओसीडी (OCD) के कई लक्षण हैं, जैसे,

  • शारीरिक और दिमागी व्याकूलता और एंगज़ाएटी 
  • ज़िद्दी डर और चिंता भरी सोच
  • निरंतर संदेह
  • काम और व्यवास्ता का जुनून

ओसीडी (OCD) से कैसे मुक्ति पाई जा सकती है?

अधिकांश लोगों के लिए ओसीडी एक स्थाई रोग है। इस से लड़ने के लिए कई अलग-अलग तरीके हैं।  

कई व्यक्ति खुदको बेहेतर करने के लिए मानसिक चिकित्सा की मदद लेते हैं।  यह डाक्टर कई तरह के ढंग अपनाते हैं मरीज़ की मदद करने के लिए।

  • कॉग्निटिव बिहेवियर थेरपी (cognitive behavior therapy) एक ऐसी चिकित्सा है जिसमे मनोविज्ञानी डाक्टर संगयानात्मक और व्यावहारिक सुधार लाने के कई तरीके अपनाते हैं।  
  • एक और तरह की चिकित्सा है जिसको कहते हैं अवर्षन थेरपी (aversion therapy)। यह आपके व्यवहार पर इस तरह काम करती है जिस से जो घिनौनी चीज़े हमारे रोग के प्रोत्साहन में हम करते हैं वह ऐसी चीज़ो से मानसिक रूप मे जोड़ दिया जाता है जो हमे बिल्कुल भी पसंद ना हो।  
  • ओसीडी से गुज़रने वाले व्यक्ति को कई बार दवाई की भी ज़रूरत पढ़ती है।  ये दवाई उनको इस रोग का सामना करने में मदद करती है, और इस से जुड़ी शारीरिक और मानसिक कठिनाइयों को हटाने में भी सफलता देती है।  

लोग कई बार ओसीडी (OCD) को ग़लत समझते हैं

काफ़ी लोगों के लिए ओसीडी (OCD) एक मज़ाक की बात है। ऐसी कई चीज़े हैं जिनके कारण लोगों को लगता है की उनको यह बीमारी घंभीरता से लेनी की कोई ज़रूरत नहीं है। काफ़ी लोगों को लगता है की जो लोग कड़ी सफाई रखना पसंद करते हैं उनको ओसीडी (OCD) है। और भी कई लोगों को लगता है की जिन लोगों को चीज़े क्रम में रखने की आदत है उनको ओसीडी (OCD) है।  पर ओसीडी इस सब से काफ़ी जटिल है।  

इस रोग से गुज़रते हुए व्यक्तियों का इन विचारों और व्यवहार पर  नियंत्रण नहीं होता, और यह उनकी ज़िंदगी पर बहुत हानि ला सकता है।  

अगर आपको लगता है की आपको यह रोग है, मेरा सुझाव है की आप एक दोस्त से इस बारे में बात करें और एक चिकित्सक से मिले जो आपकी मदद कर पाए। अगर आप किसी को जानते हैं जो इस से गुज़र रहा है, मेरी आशा है की आप उन को गंभीरता से लें और उनकी इस पीड़ा का मज़ाक ना बनाए, भले ही आपको उसकी गहराई की समझ ना हो।  

किसी भी बीमारी तथा पीड़ा में एक दोस्त के प्रेम की बहुत महत्वपूरनता होती है। यह दोस्त आप के साथ-साथ आपका दर्द बाँटता है और आप में जब खड़े होने की ताक़त ना हो तब एक बैसाखी स्वरूप आपको आगे बढ़ने में मदद करता है।  यीशु मसीह का प्रेम एक ऐसा ही प्रेम है, वह एक ऐसे उत्तम मित्र है जो आप को कभी नीचा नहीं दिखाएँगे और इस पीड़ा पर जय पाने में आपकी मदद करेंगे।  

आपने कभी यीशु के बारें में सुना है? 

मेरा सुझाव है की अगर आप ओसीडी (OCD) से गुज़र रहे हैं, या फिर चाहे किसी भी पीड़ा से गुज़र रहे हैं, आप आज प्रभु यीशु मसीह के आगे अपनी प्रार्थना रखें और उनके प्रेम का अनुभव करें। यदि आप मदद चाहते हैं तो हमसे बात करें। 

आगे पढ़ना जारी रखें
आप इन्हे भी पढ़ना पसंद करेंगे ...
To Top