अच्छे कैरीअर का चुनाव
हमसे जुड़ें

मैं एक अच्छे कैरीअर का चुनाव कैसे करुँ?

सही कैरीअर का चुनाव कैसे करें? क्या सही कैरीअर के चुनाव के लिए अपने जुनून के पीछे जाना ज़रूरी है? अपने जीवन और कैरीअर को सही दिशा कैसे दूँ? क्या कैरीअर का चुनाव करने के लिए अपने लक्ष्य को पहचानना ज़रूरी है? आइए देखें!

जीवन

मैं एक अच्छे कैरीअर का चुनाव कैसे करुँ?

सही कैरीअर का चुनाव कैसे करें? क्या सही कैरीअर के चुनाव के लिए अपने जुनून के पीछे जाना ज़रूरी है? अपने जीवन और कैरीअर को सही दिशा कैसे दूँ? क्या कैरीअर का चुनाव करने के लिए अपने लक्ष्य को पहचानना ज़रूरी है? आइए देखें!


मेरी जीवन की दिशा क्या है? मेरा जुनून क्या है?

किसी भी स्टुडेंट के जीवन में यह सबसे बड़ा प्रश्न होता है। चाहे वो स्कूल में हो या कॉलेज में…इस प्रश्न का सामना हर एक छात्र या छात्रा करती है। आख़िर एक कैरीअर ही तो किसी भी स्टुडेंट के आगे की ज़िन्दगी को दिशा देता है। यह सवाल एक स्टुडेंट के दिमाग में तब और भी ज़्यादा आने लगता है जब वह अपनी स्कूल की या कॉलेज की पढ़ाई पूरी कर रहा होता है।

कभी-कभी तो ज़्यादातर हमारे टीचर्स या घर-परिवार के लोग भी हमसे ये सवाल पूछ बैठते हैं – “अपने कैरीअर के बारे में कुछ सोचा है कि नहीं”? दुनिया की इस भीड़ में जहाँ इतना ज़्यादा नेक-टु-नेक कॉम्पिटीशन है…वहाँ ये सवाल हम स्टुडेंट्स को कभी-कभी डरावना सा लगता है।

लेकिन आख़िर कैरीअर है क्या?

कोई भी पेशा या काम जिसे हम अपनी ज़िंदगी में आगे बढ़ने के लिए चुनते हैं और जिसमें हमारे जीवन के प्रगति की संभावना है, वही हमारा कैरीअर कहलाता है। एक आदर्श कैरीअर ज़िंदगी में हमारी चाहत और हमारे ज़िंदगी के उद्देश्य का परफेक्ट बैलेंस और हमारी आजीविका या रोज़ी-रोटी कमाने का ज़रिया होता है।

सही कैरीअर का चुनाव कैसे करें?

हम आपकी मदद करना चाहते हैं आपके लिए सही कैरीअर के चुनाव में। सही कैरीअर के चुनाव में इन बातों का ख़्याल रखिए :

1. अपना मूल्यांकन कीजिए। अपने आप से इन सवालों को पूछिए – आपको क्या पसंद है? कौन सा सब्जेक्ट या विषय आपका फेवरिट है? आपकी रुचियाँ किन चीज़ों में है? आपका व्यक्तित्व कैसा है और वह आपके किसी भी काम को किस तरह प्रभावित करता है?

2. अपने मूल्यांकन के आधार पर उन औकुपेशन्स या पेशा या नौकरियों की सूची बनाइए जिनके बारे में आप और ज़्यादा जानना चाहते हैं।

3. सूची में लिखित औकुपेशन्स के बारे में और अधिक जानें, जैसे – वह पेशा क्या है? उसे करने के लिए क्या-क्या डिग्री या क्वालिफिकेशन होना चाहिए? उस पेशे में प्रगति की या आगे बढ़ने की क्या-क्या संभावनाएँ हैं?

4. अपनी सूची को और सेलेक्टिव और छोटा कीजिए। ऐसा करने पर शायद आपकी चुनी हुई कुछ औकुपेशन्स आपके लिस्ट में से छूट जाए…पर आगे बढ़ते रहिए। अगर ज़रुरत पड़े तो बिंदु 3 और 4 को फिर से दोहराइए।

5. अब जाकर आपको अपने सेलेक्टिव लिस्ट के हर एक ऑप्शन या विकल्प के बारे में किसी एक्सपर्ट या उसी पेशे के व्यक्ति से जाकर बात करनी है।

6. यहाँ तक आते-आते आपको अपने व्यक्तित्व और जो कैरीअर का आप चुनाव करना चाहते हैं, उसमें कुछ तालमेल मिलता नज़र आएगा। इस पड़ाव पर आकर आप अपने लायक एक अच्छा कैरीअर चुन सकते हैं।

लेकिन हाँ…सिर्फ किसी कैरीअर को बस चुन लेने से ही बात ख़त्म नहीं हो जाती। छात्रों को यहाँ भी कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।

छात्रों के लिए कैरियर परामर्श

1. कैरीअर के चुनाव के बाद अपने लक्ष्यों को पहचानें, जैसे कि शार्ट टर्म और लॉंग टर्म लक्ष्य।

2. इन शार्ट टर्म और लॉंग टर्म लक्ष्यों को पाने के लिए एक्शन प्लान बनाँए।

3. किसी प्रोफेश्नल की सहायता ज़रुर लें।

आपको यह जानकर ख़ुशी होगी कि परमेश्वर के वचन बाइबल में कहा गया है कि परमेश्वर हमारे जीवन के लिए एक परिकल्पना या प्लान रखता है। अगर आप एक स्टुडेंट हैं और अपने कैरीअर के बारे में चिंतित हैं तो आप हमारे कैरीअर काउंसेलर से बात कर सकते हैं।

हम और आप साथ में मिलकर आपके लिए एक अच्छा कैरीअर चूंनने में मदद कर सकते है।

आगे पढ़ना जारी रखें
आप इन्हे भी पढ़ना पसंद करेंगे ...
To Top