7 टिप्स ब्रेन पावर बढ़ाने के नुस्ख़े और टिप्स
हमसे जुड़ें

7 टिप्स ब्रेन पावर बढ़ाने के नुस्ख़े

दिल की सुने या दिमाग़ की- क्या आप भी इस संघर्ष से गुज़रते हैं? आख़िर क्या सम्बंध है दिल का दिमाग़ से? किस की सुने? आइए जाने कुछ ऐसे टिप्स जो हमारे ब्रेन पावर को बढ़ते हैं।

जीवन

7 टिप्स ब्रेन पावर बढ़ाने के नुस्ख़े

दिल की सुने या दिमाग़ की- क्या आप भी इस संघर्ष से गुज़रते हैं? आख़िर क्या सम्बंध है दिल का दिमाग़ से? किस की सुने? आइए जाने कुछ ऐसे टिप्स जो हमारे ब्रेन पावर को बढ़ते हैं।


नुस्ख़े और टिप्स

वैसे तो इस टॉपिक पर आपको कई जगह पर कई सारे लेख मिल जाएँगे पर यहाँ हम दिमाग या ब्रेन पावर बढ़ाने के साथ-साथ दिमाग और दिल के रिश्ते को भी समझने की कोशिश करेंगे। हम देखेंगे कि आख़िर दिल और दिमाग का तालमेल कैसे बैठता है। कि आख़िर किसी परिस्थिति में कौन हमारे जिंदगी में ज़्यादा हावी होता है…हमारा दिल या हमारा दिमाग….???

दिल की सुने या दिमाग की… ?

ज़्यादातर देखा गया है कि जो लोग इमोश्नल होते हैं वो अक्सर अपने दिल की सुनते हैं और जो लोग क्रिटिकल या प्रैक्टिकल होते हैं वो दिमाग की। दिल और दिमाग की इस कश्मकश में अक्सर लोग परेशान रहते हैं और अपने आप से यह बात पूछते हैं कि वे किसकी सुनें – दिल की या दिमाग की….???

हमारा दिल किसी भी परिस्थिति में हमारी भावनाओं के अधीन रहता है, लोगों के साथ आपसी रिलेशन्स या संबंधों को मायने देता है, किसी के सुख में सुखी और दुःख में दुःखी होता है जबकि हमारा दिमाग हर एक परिस्थिति को एक प्रैक्टिकल नज़रिए से देखता है, कि क्या अच्छा है क्या बुरा, क्या सही है क्या ग़लत, क्या उचित है क्या अनुचित।

लेकिन ग़ौर करने वाली बात ये है कि किसी भी परिस्थिति में कोई भी निर्णय लेना दिमाग के हवाले है। आख़िरकार कोई भी डिसीज़न दिमाग ही लेता है क्योंकि अंत में जाकर वही हमारे शरीर को कंट्रोल करता है। हमारे शरीर का हर एक अंग हमारे दिमाग से किसी न किसी नस के ज़रिए जुड़ा हुआ है। यहीं पर इस बात का फ़ैसला होता है कि हम दिमाग की सुनेंगे या दिल की…!!!

तो फिर किसी भी फैसले में दिल की क्या भूमिका होती है? आईये हम दिल के बारे में और अधिक जानने का प्रयास करें।

दिल की ताज़ा ख़बरें

आए दिन आपको ख़बरों में दिल के ऊपर की गई रीसर्च के बारे में पता चलता होगा। दुनिया भर के साईंटिस्ट, कार्डीयोलॉजिस्ट, सायकायट्रिस्ट, आदि इंसान के दिल पर शोध कर कर रहे हैं और जानने का प्रयास कर रहे हैं कि आख़िर दिल का हमारे जीवन में बस रक्त को हमारे शरीर में प्रवाहित करने के अलावा और क्या काम है? एक स्वस्थ दिल हमारे शरीर में और क्या-क्या काम करता है?

1. हम सभी इस बात से सहमत होंगे की हमारे दिल पर हमारी भावनाओं – अच्छी या बुरी, सही या ग़लत का असर पड़ता है।

2. सायकाट्रिस्ट्स के अनुसार दिल पर जिन भावनाओं का असर पड़ता है वो दिमाग को भी प्रभावित करती हैं।

3. दुनिया भर के कार्डीयोलॉजिस्ट्स (cardiologist) के अनुसार अच्छी भावनाएँ और ख़ुशनुमा ख़्याल जहाँ हमारे शरीर और दिल को तंदरुस्त रखते है, वैसे ही हमारे बुरे ख़्याल हमारे दिल पर बुरा असर डालते हैं और इससे दिल की कईं सारी बीमारियों का ख़तरा रहता है।

4. कई सारे आत्मिक या स्पिरिचुअल काउंसेलर (counselor) के अनुसार हमारा दिल हमारे ज़िंदगी के सारे प्रॉब्लम्स की जड़ है।

5. परमेश्वर का वचन बाइबल बताता है – “हमारा दिल काफ़ी बुरा है।” ऐसा नहीं है कि हमारे दिल में अच्छे ख़्याल नहीं आते पर बुरी सोच भी हमारे दिल की ही उपज है जो हमारी ज़िंदगी को प्रभावित करती है।

तो अगर ये बात है तब तो फ़िर हमें हमेशा अपने दिमाग़ की ही सुननी चाहिए…है ना!?  हमारे दिल का इसमें क्या काम? पर आख़िर बिना दिल के सिर्फ़ दिमाग़ से लिए गए डिसिज़न बड़े ही कठोर और असंवेदनशील हो सकते हैं! तो आख़िर हम करें क्या…???

दिमाग़ का दिल से संबंध

यही वो बात है जो हमें समझनी है। किसी भी फैसले में दिल और दिमाग़ दोनों की सहमति हो यही उस फ़ैसले को सही और मज़बूत बनाता है। और यह तभी संभव है जब हमारा दिमाग़ सही निर्णय ले पाए।

ब्रेन पावर बढ़ाने के 7 टिप्स हम नीचे दे रहें हैं। अपने दिमाग़ की शक्ति को हम कुछ इस तरह बढ़ा सकते हैं:

1. चिंता दूर करने के लिए हम किसी एकांत जगह पर बैठने की आदत डालें।

2. शारीरिक व्यायाम करने से दिमाग भी फ़्रेश रहता है।

3. हम दूसरों की बातों को बिना रोके सुनने की आदत डालें।

4. अपनी भावनात्मक सोच को कागज़ पर लिखने से दिल और दिमाग़ हल्का होता है।

5. अपने खाने-पीने की आदतों में सुधार करने पर ब्रेन पावर बूस्ट होता है।

6. अपने सोने को नियमित करने से भी हमारा ब्रेन काफ़ी फ़्रेश और एक्टिव रहता है।

7. अपने दिल और दिमाग़ की सारी बातों को अपने किसी विश्वसनीय व्यक्ति के साथ शेयर करने पर भी हमारा दिमाग़ काफ़ी लाईट और ऊर्जात्मक या एनरजेटिक महसूस करता है।

ब्रेन पावर के बारे में और अधिक जानने के लिए आज ही हमसे संपर्क करें। याद रखें कि एक स्वस्थ दिमाग और दिल ही हमें अपने जीवन में सफ़लता दे सकता है।


आगे पढ़ना जारी रखें
आप इन्हे भी पढ़ना पसंद करेंगे ...
To Top