fbpx
हमसे जुड़ें

नेगेटिव थॉट्स को पॉज़िटिव में कैसे बदले?How to have Positive Thoughts? Tips in Covid-19

नेगेटिव थॉट्स को पॉज़िटिव में कैसे बदले?How to have Positive Thoughts? Tips in Covid-19

मानसिक स्वास्थ्य

नेगेटिव थॉट्स को पॉज़िटिव में कैसे बदले?How to have Positive Thoughts? Tips in Covid-19

इस lockdown के समय में आपको mentally healthy रहने में help करेंगे।

आज के समय में यदि हम न्यूज़ चैनल को देखे या अखबार को पड़े तो कम से कम 80 % बातें तो नेगेटिव ही होती है। अब ऐसा में positive सोच रखना बहुत मुश्किल सा हो जाता है।

यदि आज कोई covid-19 का शिकार नहीं भी हुआ तो कई बार negative सोच का शिकार बन जाता है।अब जाहिर सी बात है जब आप नेगेटिव सोच रहे है तो उसका outcome  भी नेगेटिव ही होगा, इसका मतलब जो हम अपने मन में सोचते है वैसा हम behave करते है और उसके बाद वैसा हम फील भी करते है। ये जो cycle बना रहता है और कई बार हम इसमें फस जाते है।

हमें परमेशवर Negative नहीं बनाया है लेकिन कई बार परिस्थितियों के चलते नकारात्मक सोच को रखने लगते है। Negative  सोच उस काले बादल के सामान है जो नीले आसमा को छुपा देता है और अँधेरा ला देता है, यदि हम उस काले बादल को हटा कर देखे तो नीला आसमा वही रहता है, जरुरत ये है की हम काले बादल को हटा दे।

Bible कहती की जैसा हम सोचते है वैसे हम बन भी जाते है।

जब हमारा मन बदलता जायेगा तब हमारा चाल चलन (Behavior) भी बेहतर होता जायेगा। तो कैसे हम इसे कर है।

Negative thoughts को पॉजिटिव thoughts से replace करना बहुत जरुरी है ;

  • सुबह उठाते ही mobile  में या news paper  में news  को न पड़े, लेकिन सबसे पहले उन सब चीजों के लिए धन्यवाद् करे  जो आपके life  में है, चाहे वो कितनी भी छोटी क्यों न हो। एक positive mentality को लाने  लिए कृतज्ञता की जीवन शैली को अपनाना पड़ेगा। adapting a lifestyle of gratitude. मोबाइल पे whatsapp messages  या न्यूज़ आप दिन में बाद में भी पड़ सकते है।
  • अपने किसी friends, family  या colleagues  को encourage  करे।
  • अक्सर Negative thoughts किसी ना किसी डर या self doubt  के कारण  आता है, ऐसे में अपने आप से पूछे की क्या मेरे डर का कोई valid  reason  है या ये सिर्फ मेरा assumption है।बाइबिल कहती है की परमेश्‍वर ने हमें भय की नहीं पर सामर्थ, और प्रेम, और स्वस्थ मन की आत्‍मा दी है।
  • याद रखे positive  सोच develop  हम एक बार में नहीं कर सकेंगे लेकिन ये हमें बार बार करना होगा , ऐसा करने से हमारा lifestyle  change  हो जायेगा और हम एक optimistic व्यक्ति बन जायेंगे।

दोस्तों, शायद ऐसे समय में आप यदि negative thoughts से परेशान है और अपने शांति को खो रहे है, तो बाइबल हमें बताती है की येशु मसीह का दूसरा नाम शान्ति का राजकुमार है, वह कहता है की “जो भी मेरे पास आएगा मै उसे अपनी शान्ति देता हु । ”

आशा करता हु की जो thoughts मैंने आपके साथ share किये है ये आपके लिए बहुत ही helpful होंगे।

आगे पढ़ना जारी रखें
आप इन्हे भी पढ़ना पसंद करेंगे ...
To Top