सच्ची मोहब्बत से भरी शायरी | Poetry Full of True Love
हमसे जुड़ें

सच्ची मोहब्बत से भरी शायरी | True Love | Shayari |

सच्ची मोहब्बत से भरी शायरी | True Love | Shayari |

प्यार

सच्ची मोहब्बत से भरी शायरी | True Love | Shayari |

पाक मोहब्बत का पैग़ाम सिर्फ़ आपके के नाम। पढ़िए और बाँटिए प्यार भरी शायरी, दर्द भरी शायरी और दोस्ताना शायरी। पाक मोहब्बत का पैग़ाम सिर्फ़ आपके नाम।

पेश है यह शायरी

“चाहूं तो भी ना मिटा पाउँगा तुझे अपने दिल से, मिटाए वो लवज़ जाते है जो गलती से लिखे हो।”

रोमैंटिक फिल्मों मे जब लड़की और लड़का इस अंदाज मे एक दुसरे से बात करते हैं तो हम सब के दिल कायल हो जाते है। लैला-मजनू, हिर-रांझा, रोमियो-जुलियट, जैक-रोज़ चंद नाम है जिनके इश्क की कहानी हम कितनी ही बार पढ़ ले, कितनी बार फिल्मों में देख ले वह पुरानी नहीं होती। इनका इश्क कुछ है ही ऐसा। इनकी कहानियां पढ़कर तो मन में एक ही बात आती है कैसा यह इश्क है !! अजब सा रिस्क है !! अगर कोई हमसे चंद अल्फाज़ प्यार भरे कह दे तो हम उसके गुलाम बनने को तैयार हो जाए।

फेसबुक ,इंस्टाग्राम ,व्हाट्सएप और सारे सोशल मीडिया पर ऐसे इश्क के परिंदों की कमी नहीं है। प्यार भरी शायरी, दर्द भरी शायरी, दोस्ताना शायरी यह उन परिंदों की बोली रहती है।

इन इश्क मोहब्बत की बातों को पढ़कर और देखकर कई बार मेरे दिल में यह बात आती है कि क्या सच में ऐसे इश्क का अस्तित्व इस दुनिया में है?

ऐसी मोहब्बत जो मुझे कभी ना छोड़े, जो मेरा दिल ना तोड़े, धोखा ना दे, हमेशा मेरे साथ रहे, मुझसे प्यार भरी बातें कहे और मुझसे कभी जुदा ना हो।

मुझे वो शख़्स मिल गया जो जो मुझसे इतना प्यार कर सकता है जितना मुझसे कोई भी इस दुनिया मे नहीं कर पाएगा। वो शख़्स खुदा है केवल वो ही आपको ऐसी सच्ची पाक मोहब्बत कर सकता है। सिर्फ वो ही आपके दिल को सुकून दे सकता है।यह उसके अल्फाज हैं बाइबल से आपके लिए:

1 “मैंने  तेरा नाम ले कर तुझे बुलाया है, तू मेरा ही है। पानी की गहराइयों में से गुज़रते वक़्त मैं तेरे साथ हूँगा, दरिया को पार करते वक़्त तू नहीं डूबेगा। आग में से गुज़रते वक़्त न तू झुलस जाएगा, न शोलों से भस्म हो जाएगा।”

 2 “मुहब्बत में ख़ौफ़ नहीं होता बल्कि कामिल मुहब्बत ख़ौफ़ को भगा देती है, क्योंकि ख़ौफ़ के पीछे सज़ा का डर है। जो डरता है उस की मोहब्बत तक्मील तक नहीं पहुँची।”

3 ” हम इस लिए मुहब्बत रखते हैं कि खुदा ने पहले हम से मुहब्बत रखी।”अज़ीज़ो, आओ हम एक दूसरे से मुहब्बत रखें। क्योंकि  मोहब्बत खुदा की तरफ़ से है, और जो मुहब्बत रखता है वह खुदा से पैदा हो कर उस का फ़रज़ंद बन गया है और खुदा को जानता है।”

4  “जो मुहब्बत नहीं रखता वह खुदा को नहीं जानता, क्योंकि खुदा मुहब्बत है। “रब्ब उन सब के क़रीब है जो उसे पुकारते हैं, जो दियानतदारी से उसे पुकारते हैं।”

5 “मुहब्बत सब्र से काम लेती है, मुहब्बत मेहरबान है। ना यह हसद करती है ना डींगें मारती है। यह फूलती भी नहीं।मुहब्बत बदतमीज़ी नहीं करती ना अपने ही फ़ाइदे की तलाश में रहती है। यह जल्दी से ग़ुस्से में नहीं आ जाती और दूसरों की ग़लतियों का रिकार्ड नहीं रखती।”

6 “मोहब्बत  नाइन्साफ़ी देख कर ख़ुश नहीं होती बल्कि सच्चाई के ग़ालिब आने पर ही ख़ुशी मनाती है।यह हमेशा दूसरों की कमज़ोरियाँ बर्दाश्त करती है, हमेशा एतिमाद करती है, हमेशा उम्मीद रखती है, हमेशा साबितक़दम रहती है।मुहब्बत कभी ख़त्म नहीं होती। “

7 “अगर तुम मुझ में क़ाइम रहो और मैं तुम में तो जो जी चाहे माँगो, वह तुम को दिया जाएगा।”

9 “आइन्दा तेरा सूरज कभी ग़ुरूब नहीं होगा, तेरा चाँद कभी नहीं घटेगा। क्योंकि रब्ब तेरा अबदी नूर होगा, और मातम के तेरे दिन ख़त्म हो जाएँगे।

10 “तू मेरे दुश्मनों के रू-ब-रू मेरे सामने मेज़ बिछा कर मेरे सर को तेल से तर-ओ-ताज़ा करता है। मेरा पियाला तेरी बर्कत से छलक उठता है।”

11 “रब्ब मेरा चरवाहा है, मुझे कमी न होगी। वह मेरी जान को ताज़ादम करता और अपने नाम की ख़ातिर रास्ती की राहों पर मेरी क़ियादत करता है।”

इन अल्फाजों को पढ़कर शायद आपको इस शख्स से मोहब्बत हो गई होगी। आप यह पढ़कर  अंदाजा लगा सकते है कि वो आपको कितना चाहता है। आपकी कितनी फिक्र करता है । उसके वादे आपके लिए है और वो अपने वादों से मुकरता नहीं। यदि आप इस रब्ब के बारे में और जानना चाहते हैं जिसके प्यार ऐसा हैं तो आप हमसे chat करें।

To Top