प्रेगनेंसी और गर्भपात/अबॉर्शन: क्या है सही राह? | Pregnancy | Abortion |
हमसे जुड़ें

प्रेगनेंसी और गर्भपात: क्या है सही राह?

प्रेगनेंसी और गर्भपात/अबॉर्शन: क्या है सही राह? | Pregnancy | Abortion |

जीवन

प्रेगनेंसी और गर्भपात: क्या है सही राह?

क्या प्रेगनेंसी से बचने के लिए अबॉर्शन/गर्भपात करना गलत है? अबॉर्शन/गर्भपात के इलावा भी कोई समाधान है। क्यों यह ईश्वर की आशीष श्राप बन जाती है हमारे ग़ैर जिम्मेदार स्वभाव से। हमसे बात करें।

कोक के बीज का उपहार: प्रेगनेंसी

मेरे मम्मी डैडी को गार्ड्निंग करना बेहद पसंद है। डैडी मिट्टी खोदते, बीजों को बोते, खाद डालते हैं और मम्मी हर दिन उन्हें पानी देती और उनकी देखभाल करती। ईश्वर ने औरतों को बनाया ही ऐसा है कि वह हर चीज़ की देखभाल करें। किसी ने सच ही कहा है –

औरतों के हाथ में जो भी दो वो उसे फलवंत बना देती है। उसे मकान दो वह उसे घर बना देगी,उसे सब्जियां दो तो खाना बना देगी, उसे मनुष्य का बीज दो वो उसे एक बच्चे में बदल देगी।

परमेश्वर ने स्त्री को पुरुष के लिए एक उपहार के रूप में बनाया है शायद इसलिए ईश्वर ने बच्चे जनने का सौभाग्य औरत को सौंपा पर साथ ही साथ कमर दर्द, उल्टी वाला मन, सूजन का अनुभव उसी के साथ अनुभव करने को मिलता है। पर यह सब एक मां के प्यार को उसके कोख में पल रहे बच्चे को कम नहीं करता। वह सब कुछ सह लेती है एक बच्चे को इस दुनिया में लाने के लिए सिर दर्द, सूजन तो बहुत छोटी बात है।

इस दुनिया में हर एक औरत के जीवन में वह समय आता है जब वह मां बनती है। पर ऐसी बहुत सी औरतें हैं जो बच्चे को जन्म नहीं दे पाती। बच्चे को जन्म देने से औरत की कीमत तय नहीं होती। मैं ऐसे बहुत से लोगों को जानती हूं जिन्होंने बच्चे को गोद लिया उन्हें जीने का मौका दिया, उन्हें एक परिवार दिया। बच्चे को गोद लेना ऐसी बहुत सी जिंदगियों को मरने से बचाता है।

चमत्कार की कहानी

मेरी एक दोस्त है जिसको बहुत साल से प्रेगनंट नहीं हो पा रहा था और बहुत सालों के बाद जब उसे अपनी प्रेगनेंसी के बारे में पता चला पर उसका मिस्कैरिज या गर्भपात हो गया। आप खुद सोचिए उस औरत का क्या हाल हुआ होगा। वो अंदर से टूट चुकी थी उसकी आशा खत्म हो गई थी। फिर कुछ समय के बाद जब वह दूसरी बार गर्भवती हुई तो उसे यीशु मसीह की आवाज़ सुनाई दी कि यह बच्चा नहीं गिरेगा और यह बच्चा इस दुनिया में जन्म लेगा और तंदुरुस्त होगा और वैसा ही हुआ। उसके बच्चे ने जन्म लिया और वह तंदुरुस्त था।

मां बनने का सुख पाना हर एक औरत का सपना है वहीं दूसरी तरफ पूरी दुनिया में गर्भपात कराना बहुत आम हो गया है और दिन-ब-दिन इस साधन का दुरुपयोग बढ़ता चला जा रहा है। क्या हम इस दुनिया को मां के बिना सोच सकते हैं? अगर यह दुनिया मां के बिना अधूरी है तो फिर मां की ममता को, बच्चे को जन्म देने के वरदान के मूल्य को गर्भपात (abortion) के द्वारा क्यों छोटा कर दें।

क्या अबॉर्शन/गर्भपात करना गलत है ?

आज बहुत सी औरतें हैं जो गलती से गर्भवती होने के कारण अबॉर्शन/गर्भपात का सहारा ले लेती हैं। एक इंसान की जिंदगी को खत्म करना चाहे फिर वह बड़ा हो या छोटा क्या यह सही है ? हम क्यो किसी के खून के जिम्मेदार बने। अबॉर्शन/गर्भपात हल नहीं वरण अंत है एक जिंदगी का जो इस दुनिया को कभी देख नहीं पाई। अबॉर्शन/गर्भपात अंत है उस मां की ममता का, उन सपनों का जो एक औरत ने कभी देखे थे।

अबॉर्शन/गर्भपात की एक दर्दनाक कहानी

 एक दिन मेरी पड़ोसन बहुत ही परेशान थी तो उसने आकर मुझे बताया कि अपनी प्रेगनेंसी से परेशान होकर अबॉर्शन/गर्भपात करवाने गई थी और उसकी वजह से उसके शरीर में बहुत तकलीफ हो रही है। वो शादीशुदा थी और उसके पहले से दो बच्चे थे और उसके अबॉर्शन/गर्भपात करवाने का कारण यह था कि वह गरीब थे और एक और बच्चे का खर्चा वो नहीं उठा सकते थे। उसने मुझे बताया कि वह हमेशा से एक बेटी चाहती थी और अबॉर्शन/गर्भपात करवाने के बाद उसे बेटी के सपने आ रहे थे। वो पछता रही थी कि उसने अबॉर्शन/गर्भपात क्यों करवाया। उसका सपना उस दिन खत्म हो गया और यह बात उसे बेहद तकलीफ दे रही थी।

अबॉर्शन/गर्भपात के इलावा भी समाधान है

आज ऐसी बहुत सी औरतें हैं जो शादी के बाहर सैक्स करने से गर्भवती हो जाती हैं और इस शर्मिंदगी से बचने के लिए अबॉर्शन/गर्भपात का सहारा लेती हैं। प्रेगनेंसी से परेशान होकर अबॉर्शन/गर्भपात के अलावा ऐसे बहुत से रास्ते हैं जिससे आप एक बच्चे की जिंदगी को बचा सकते हैं। आपको पढ़ने में शायद अटपटा सा लगे पर यह कहानी मेरे दोस्त की मम्मी की है जो बीना शादी के गर्भवती हो गई थी और उन्होंने यह निर्णय लिया की वो लड़का इस बच्चे को अपनाए या ना अपनाए वो अबॉर्शन/गर्भपात नहीं करवाएगी। यह निर्णय लेने से जिस बच्चे का जन्म हुआ वह आज मेरी दोस्त है।

ऐसी बहुत सी एडॉप्शन एजेंसी (adoption agency) आज खुल चुकी हैं जो आपकी इसमें मदद कर सकती हैं। अबॉर्शन/गर्भपात सही समाधान नहीं है। यदि आप अपने बच्चे को नहीं चाहती हैं तो आप एडॉप्शन एजेंसी में उसे दे सकती हैं  ऐसे बहुत से परिवार है जो आपके बच्चे को गोद लेकर अपने परिवार का हिस्सा बनाने के लिए तैयार हैं। ऐसी बहुत सी महिलाएँ हैं जो संतान सुख को नहीं पा सकी और आपका बच्चा गोद लेकर उसे एक नई आशा मिल सकती है।

एक जीवन को जन्म देना और उसे बचाना के लिए हर कोशिश करना कमज़ोरी नहीं आपकी ताकत है।

हम आपको प्रोत्साहित करना चाहते हैं कि परमेश्वर आपसे हर परिस्थिति में प्यार करते हैं और वह आपको अपराध और आत्म निंदा से मुक्त जीवन प्रदान करना चाहते हैं। यदि आप ऐसी परिस्थिति में हैं जहाँ अबॉर्शन/गर्भपात को छोड़ आपको कोई रास्ता नहीं मील रहा या आप शादी से बाहर गर्भवती हो गई हैं  और मदद चाहती हैं तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं। हम आपकी मदद कर सकते हैं। आज ही हमसे chat करें।


To Top